विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान डिप्टी हाई कमिश्नर से कहा, भारतीय पायलट को पाक सुरक्षित लौटाए

नई दिल्ली: आतंकी ठिकानों पर भारतीय कार्रवाई के बाद भारत और पाकिस्तान में हालात तनावपूर्ण हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बयान जारी कर शांति की अपील की है। वहीं भारत ने पाक डिप्टी उच्चायुक्त को समन जारी किया है।

पाकिस्तान के डिप्टी कमिश्नर सैय्यद हैदर शाह को तलब किया और पुलवामा हमले को लेकर पाकिस्तान को डॉजियर सौंपा। भारत ने हमले में जैश-ए-मोहम्मद के हाथ होने के सबूत दिए हैं। साथ ही भारत ने पाकिस्तान उप उच्चायुक्त सैय्यद शाह से अपने पायलट पाकिस्तान के पास होने की पुष्टि की है।

भारत ने कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि पाकिस्तान भारत के पायलट को सुरक्षित वापस लौटाए। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारतीय पायलट को किसी भी तरह का नुकसान नहीं पहुंचना चाहिए। हालांकि पाकिस्तानी सेना ने दावा किया है कि हमारे कब्जे में सिर्फ एक पायलट है और गंभीर हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि लापता पायलट को पाकिस्तान ने हिरासत में लेने का दावा किया है।

भारत का पायलट लापता गौरतलब है कि विंग कमांडर अभिनंदन ने मिग 21 बाइसन जेट से उड़ान भरी थी, लेकिन वह अभी तक नहीं लौट पाए हैं। पाकिस्तान ने दावा किया है कि पायलट को उसने बंधक बना लिया है। विदेश मंत्रालय पहले भी कर चुका है तलब वहीं भारत पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव को लेकर विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया है।

हालांकि इस ऑपरेशन में एक मिग विमान क्षतिग्रस्त हो गया। जबकि मिग का पायलट भी लापता है। गौरतलब है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण माहौल है। आतंकी हमले के बाद भारत ने 15 फरवरी को पाकिस्तान उच्चायुक्त को तलब किया था। भारतीय विदेश सचिव ने पाकिस्तान उचायुक्त सोहल मुहम्मद के सामने हमले की कड़ी आपत्ति जताते हुए जैश-ए-मोहम्मद पर कड़ी कार्रवाई करने को कहा था।