उन्नाव गैंगरेप केस में सीबीआई ने पुलिस पर की बड़ी कार्रवाई, दो पुलिसकर्मी गिरफ्तार

उन्नाव में हुए एक शर्मनाक दुष्कर्म के मामले को लेकर पुरे देश में गुस्सा आ आक्रोश नजर आया था. एक मामले में कुछ आरोपियों की गिरफ्तारी भी हुई है. इस मामले में एक बीजेपी विधायक को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. जिसे इस घटना का मुख्य आरोपी बताया गया है. फ़िलहाल इस मामले की जाँच सीबीआई कर रही है.

कल बुधवार को इस चर्चित गैंगरेप केस में सीबीआई ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए माखी के तत्कालीन थानेदार अशोक सिंह भदौरिया और दरोगा कामता प्रसाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया. भदौरिया और सिंह से पहले सीबीआई ने पूछताछ की और इसके बाद फिर अशोक सिंह भदौरिया और दरोगा कामता प्रसाद सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया.

सीबीआई से प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि दोनों प्रशासनिक अधिकारीयों को पीड़िता के पिता को अवैध रूप से गिरफ्तार करने और हत्या की साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. अब यह भी कहा जा रहा है कि इन दोनों के बाद कुछ और बड़े अधिकारीयों पर भी कार्रवाई की जा सकती है.

मीडिया को सीबीआई के आईजी जीएन गोस्वामी ने बताया कि अशोक सिंह भदौरिया और कामता प्रताप सिंह को आईपीसी की धारा 120बी, 193, 201, 218 और 3/25 शस्त्र अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है.

अशोक सिंह भदौरिया और कामता प्रताप सिंह दोनों को सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया था. इसके बाद गिरफ्तार कर लिया गया है. यहां आपको बता दें कि देरी से गिरफ़्तारी को लेकर सीबीआई पर हाई कोर्ट ने कई सवाल खड़े किए थे.