येरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने कई बाद “नॉर्थ कोरिया ” ने बताई ट्रम्प को उसकी ओकात

America के President डोनाल्ड ट्रम्प ने इज़राइल की राजधानी येरुशलम को बताने पर उत्तर कोरिया का बयान आया है, वहां के नेता ने अमेरिका के President ट्रम्प की आलोचना करते हुए कहा की जब इज़राइल नाम का कोई देश है ही नहीं तो उसकी राजधानी का सवाल ही पैदा नहीं होता हैं. और उन्होंने इनके फैसले के ख़ीलाफ कहा की ट्रम्प सठिया गए है.

उन्होंने कहा की जब इज़राइल नाम की कोई सरकार ही नहीं है तो वहां की राजधानी का आप कैसे सवाल खड़ा कर सकते है और इस मुद्दे को क्यों बढ़ाया जा रहा है उन्हें ऐसे फैसले, जिनका कोई मतलब ही नहीं है. इन पर वहां की जनता को रोक लगाना चाहिए और यह सब वह शायद Media में आने के लिए कर रहे है, उनकी जितनी आलोचना की जाये उतनी ही कम है.

अमेरिका के राष्ट्रपति के फैसले के खिलाफ पूरी दुनिया निंदा कर रही है लेकिन फिर भी वह इस फैसले को लेने से इंकार कर रहे है. यहाँ तक की UN ने भी इस प्रस्ताव की निंदा व्यक्त करते हुए कहा की उन्हें बिना सोचे समझे ऐसे फैसले नहीं लेना चाहिए. और मुस्लिम देशो के राष्ट्रपति व यूरोपियन देश के नेताओं ने भी उनके इस फैसले की निंदा व्यक्त की हैं.

ट्रम्प के खिलाफ World के कई मुस्लिम देशों में प्रदर्शनियाँ हो रही है, ईराक व तुर्की ने इस फैसले के खिलाफ सभी को एक साथ मिलकर इसका विरोध करने की घोषणा की है और सऊदी अरब ने भी फैसले की निंदा करते हुए, इसे वापस लेने के लिए अनुरोध व्यक्त किया हैं.