बैतुल मुक़द्दस मामले पर मुहँ की खाने के बाद ट्रंप भड़का, संयुक्त राष्ट्र के ख़िलाफ उठाया ये क़दम

डोनाल्ड ट्रंप जेरुसलम वाले मुद्दें पर मुंह की खाने के बाद किसी ज़ख़्मी शेर की तरह दिख रहा है. दुनियाभर में अपनी बेईज्ज़ती होने के बाद अमेरिका अब अपने आपको अपमानित सा महसूस कर रहा है.

जैसा के बेतुल मुक़द्दस मामले पर ट्रम्प ने पहले हे बोल दिया था जो अमेरिका के खिलाफ जायेगा उसको आर्थिक मदद में कटोती मिलेगी. अब ट्रम्प ने एक बड़ा फैसला लेते हुए संयुक्त राष्ट्र के बजट में भारी कटौती का प्रस्ताव तैयार किया है.

अमेरिका 2018-19 में यूएन के बजट में 28.5 करोड़ डॉलर से ज्यादा कटौती करने जा रहा है. ये कटौती यूएन के मैनेजमेंट और सपोर्ट फंक्शन में होगी. रविवार को संयुक्त राष्ट्र की राजदूत निक्की हेली ने एक बयान में कहा कि सभी को संयुक्त राष्ट्र की अक्षमता और अधिक भुगतान की जानकारी अच्छी तरह से हैं.

हम अब अमेरिकी लोगों की उदारता का लाभ नहीं उठाने देंगे. उन्होंने कहा, खर्च में यह ऐतिहासिक कमी संयुक्त राष्ट्र की ओर बढ़ने के कई अन्य कदमों के अलावा सही दिशा में एक बड़ा कदम है. ध्यान रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सयुंक्त राष्ट्र सभा में जेरुसलम पर वोटिंग के बाद ही इस बात की घोषणा कर दी थी.

आम सभा में अमेरिका की और से जेरुसलम को इजरायल की राजधानी घोषित करने के खिलाफ लाये गए प्रस्ताव के समर्थन में 128 वोट मिले थे. जबकि अमेरिका के समर्थन में केवल 9 देशों ने वोट किये था. वोटिंग के दौरान 128 सदस्यों में से 35 ने मतदान नहीं किया था.