शिवसेना का कटाक्ष, जब देश में लोकतंत्र बचा ही नहीं है तो हत्या किसकी होगी

कर्नाटक में चुनाव नतीजे आने के बाद से ही कोहराम मचा है, सियासी उठक पठक तेज है. इस सब के बीच कर्नाटक में बीजेपी ने सरकार बना ली है. बीजेपी के नेता बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ भी ले ली है. उन्हें अपना बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों को समय राज्यपाल ने दिया था.

लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की एक याचिका पर फैसला सुनते हुए कर्नाटक में कल ही बहुमत परीक्षण करने के लिए कहा है. जिसके बाद से ही बीजेपी मुसीबतों में नज़र आ रही है. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कल शाम 4 बजे बीजेपी के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा को अपना बहुमत साबित करना होगा.

इससे पहले राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया था, राज्यपाल के इस फैसले की आलोचना करते हुए रायपुर में राहुल गाँधी ने कहा कि देश की हर संस्थान में आरएसएस घुसपैठ कर रहा है, ऐसा पाकिस्तान या नाताशाही में होता है.

साथ ही उन्होंने कहा कि आज हमारे संविधान पर हमला हुआ है, कर्नाटक में एक तरफ़ विधायक खड़े हैं तो दूसरी तरफ़ राज्यपाल, जेडीएस का कहना है कि उनके विधायकों को 100-100 करोड़ का ऑफर दिया गया.

वहीँ बसपा प्रमुख मायावती ने कहा है कि बाबा साहब भीम राव आंबेडकर के संविधान को ख़त्म करने की ये साज़िश है. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करके ही सत्ता में आयी है, इसीलिए ये लोकतंत्र पर हमला कर रही है.

शिव सेना के संजय राउत ने भी इस मामले को लेकर अपना पक्ष रखा है. शिवसेना ने कहा कि बीएस येद्दयुरप्पा ने शपथ ले ली है लेकिन उनके लिए बहुमत सिद्ध करना मुश्किल है. साथ ही संजय राउत ने कहा कि जब ऐसा होता है तो लोग कहते हैं लोकतंत्र की हत्या हो गयी लेकिन जब देश में लोकतंत्र बचा ही नहीं है तो हत्या किसकी होगी.