रेगर युवाओं ने कहा एक ‘हत्यारा कभी भी हमारा आदर्श नही हो सकता

अफ़राज़ुल के केस को लेकर एक तरफ जहां प्रायोजित रेगर युवा महासभा ज्ञापन देकर अफराजुल के हत्यारे “शम्भू लाल रेगर” को निर्दोष बताते हुए उसके लाइव मर्डर वीडियो को फर्जी बता रहें हैं वहीं दूसरी तरफ अम्बेडकरवादी रेगर युवाओं ने इस घटना के खिलाफ अपना गुस्सा ज़ाहिर करने में लगी हुई है.

वही जहाजपुर के “भवानी राम रेगर” आंबेडकर विचार मंच के अध्यक्ष रह चुके है उन्होंने रेगर युवा महासभा (चित्तौड़गढ़) के अस्तित्व पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि यह कागजी संगठन है और में ऐसे कागजी बिज्ञापन का विरोध करता हूँ, और यह ज्ञापन रेगर समाज को बदनाम करने के लिए दिलाया गया है यह फासीवादी ताकतों का काम है और इसी के साथ अफ़राज़ुल के परिवार वालों से माफ़ी मांगी है.

महावीर प्रसाद रेगर Social Media पर अपना गुस्सा ज़ाहिर करते हुए लिखते है की जिस कागज पर रेगर महासभा का ज़िक्र है ऐसी कोई महासभा है ही नहीं यह तो संग के तले पड़ रहे कुछ तथ्यों का काम है जो समाज के लिए एक शर्मिंदगी का कारण बन रहें हैं. और इसका प्रभाव भारत की जनता पर पड़ रहा है.

एक अन्य फेसबुक यूजर “अशोक चौहान” लिखते है की हिन्दू-हिन्दू चिल्लाने वाले अब शम्भू लाल को शम्भू हिन्दू नहीं लिख रहे हैं, वे जोर जोर से शम्भू रेगर रेगर चिल्ला रहे हैं और हमारे समाज को बदनाम कर रहें है और आंबेडकरवादी युवा “दिनेश कुमार रेगर” ने कहा की मैने बहुत ही Guilty Feel किया है की यह अपराधी मेरे समाझ का है में इस भगोड़े को फांसी की सजा की प्राथना करता हूँ.

वही जीतेन्द्र बारोलिया ने फेसबुक पर लिखा है की आतंकवाद कोई धर्म जाती की नहीं होती यह काम हमारे धर्म के आदमी ने किया है तो ऐसा नहीं है की उसे सजा नहीं मिलेगी सभी धर्मो के लिए कानून एक जैसा है जिसने ऐसा आतंक फैलाया है उसे सजा मिलेगी ही और हर गलत काम करने वाले को सजा मिलनी ही चाहिए.

इन सभी मामलो को देखते हुए यह पता चलता है की सभी जातियों में रेगर को लेकर बहस जारी है जो ढकी छुपी जुबान से शम्भू लाल को भटका हुआ नौजवान साबित कर रहे है इन उग्रवादी तत्वों को आम रेगर समाज का समर्थन नही मिल पा रहा है, वहीं दूसरी ओर अम्बेडकरवादी रेगर युवाओं का एक विशाल समूह उठ खड़ा हुआ है.

जो शम्भू लाल जैसे दुर्दांत हत्यारे को नायकत्व देने की किसी भी कोशिस को बर्दाश्त करने को तैयार नहीं है और राजस्थान के प्रगतिशील रेगर भगोड़े युवा के खिलाफ खड़े हो रहें है और जल्द से जल्द इसे बड़ी से बड़ी सजा के लिए दोषी ठहरा रहें हैं