राज्यपाल के पास पहुंचे तेजस्वी, गोवा और बिहार में भी उठी बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का मौका देने की मांग

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी और उसे इसी आधार पर कर्नाटक में सरकार बनाने का न्योता मिला. इसी तर्क को लेकर बिहार और गोवा की सबसे बड़ी पार्टीयों ने राज्यपाल से सरकार बनाने के लिए मौका देने की मांग की.

बिहार और गोवा में आरजेडी और कांग्रेस ने सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा करते हुए सरकार बनाने का मौका देने की बात कही है. बिहार के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव ने रज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक से मुलाकात कर सरकार बनाने का मौका देने का अनुरोध किया है.

राज्यपाल से मिलने के बाद तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट किया, मैंने तीन पार्टियों के समर्थन के साथ राज्‍यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया. चुनाव पूर्व हमारा सबसे बड़ा गठबंधन था इसके आलावा हमारी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी है इसलिए हम लोगों को भी सरकार बनाने का न्‍योता मिलना चाहिए.

आपको बता दें कि साल 2015 में आरजेडी, जनता दल यूनाइटेड और कांग्रेस ने साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ा था. जिसमें राजद को सबसे ज्‍यादा 80 सीटें मिली थीं. दूसरे और तीसरे पायदान पर क्रमश: जदयू और भाजपा रही थी. बाद में जदयू ने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. बिहार की विधानसभा में कुल 243 सीटें हैं.

कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल से मुलाकात की. गोवा में भी कुछ वेसे ही हालात है जैसे बिहार में है. जहाँ कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने का मौका देने की मांग की है. गोवा में वर्ष 2017 में विधानसभा की 40 सीटों के लिए चुनाव हुए थे. इसमें 17 सीटों के साथ कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी थी. भाजपा को 13 सीटें मिली थीं.

गोवा में सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद कांग्रेस सरकार नहीं बना सकी थी. बता दें की जहाँ भाजपा ने महाराष्‍ट्र गोमांतक पार्टी के साथ अन्‍य छोटे दलों और निर्दलीय के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. कर्नाटक में भाजपा की दलील के बाद गोवा में कांग्रेस के विधायकों ने शुक्रवार 18 मई को राज्‍यपाल मृदुला सिन्‍हा से मुलाकात कर सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते सरकार बनाने के लिए न्यौता देने का अनुरोध किया है.