राहुल गाँधी के खिलाफ फैलाई गयी फेक न्यूज़ का सच आया सामने

भारत के 5 राज्यों में विधानसभा चुनावों की तारीख़ पास आ रही है और चुनावी माहौल वायरल विडियोज ने हडकंप मचा रखा है लेकिन ये विडियो कितनी सच हैं कितनी झूठ इसकी किसी को कोई जानकारी नहीं होती है इस प्रकार की फेक विडियोज के लिए कोई कानून नहीं है जिसके कारण ये विडियोज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होती हैं और जनता इनको तेजी से शेयर भी करती है फेक न्यूज़ को सोशल मीडिया पर वायरल होने में ज्यादा समय नहीं लगता कांग्रेस पार्टी के खिलाफ ऐसी ही एक फेक न्यूज़ की जानकारी मिली है|

हालही में एक विडियो आया था जिसमे राहुल गाँधी की सभा में हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये गए ये विडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ काफी लोगों ने इसको शेयर भी किया है आपको बता दें कि ये विडियो राहुल गाँधी की लन्दन में हुई सभा का है इस विदों मे कुछ अज्ञात सख्स कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद और हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे इसके कैप्चर में लिखा था कि कैसे में कांग्रेस को सौप दूँ अपना दे|

पाकिस्तान जिंदाबाद और हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे भी सभा में लगे थे जानकारी के मुताबिक कुछ अज्ञात व्यक्ति जिन्होंने पगड़ी पहिनी थी वो खालिस्तानी आतंकवादी थे लेकिन सोशल मीडिया पर ये विडियो काफी चर्चित रहा है|

कांग्रेस पार्टी पर ये इल्जाम भी लगाया गया की उसी ने इन आतंकवादियों को बुलाया था ये विडियो कम से कम 4 या 5 महीने पुराना है राजस्थान और मध्यप्रदेश चुनाव के चलते ये विडियो फिर से वायरल हुआ है


दरअसल विडियो का पता लगाने के लिए और यह विडियो सच्ची है या झूठी है इसके लिए एक प्रोजेक्ट आया है इस प्रोजेक्ट का नाम एकता न्यूज़रूम है|

राहुल की सभा जब लन्दन में चल रही थी तो ये अज्ञात व्यक्ति जबरजस्ती सभा में घुस गए और नारे लगाने लगे हलाकि इनको सभा में आमंत्रित भी नहीं किया गया था|