मस्जिद में बड़ा धमाका, लगभग 30 लोगों की मौत

पूर्वी अफगानिस्तान के खोस्त प्रांत में एक बड़ा धमाका हुआ है. विस्फोट में काफ़ी ज्यादा जान और मान की हानि हुई है. बताया जा रहा है कि इस विस्फोट ने 30 लोगों के मारे जाने की खबर है. और कई लोग घायल हुए है, सभी घायलों को पास के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

यह धमाका एक मस्जिद में हुआ है, और जिस मस्जिद में यह विस्फोट हुआ है उसे मतदाता पंजीकरण केंद्र के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा था.

अफगानिस्तान के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के प्रांतीय प्रमुख हबीब शाह अंसारी ने खोस्त शहर में हुए हमले की पुष्टि की है. इस हमले की किसी भी आतंकी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है.

परन्तु आशंका जताई जा रही है कि इस हमले में भी तालिबानी आतंकी संगठन का हाथ हो सकता है. इससे पहले भी तालिबान ने लोकतांत्रिक चुनावों को खारिज किया था. अफगानिस्तान में चुनाव के दौरान तालिबान पहले भी हमला कर चुका है.

काबुल में पिछले महीने भी एक मतदाता पंजीकरण केंद्र पर आत्मघाती हमला हुआ था. इस हमले में 60 लोग मारे गए थे और कम से कम 130 लोग घायल हुए थे. चुनाव आयोजित करने के योजना अफगानिस्तान 2014 से बना रहा है.

2014 के अंत में अमेरिका और नाटो ने अपने युद्ध मिशन को समाप्त किया था. और उसी के बाद से ही अफगानिस्तान में आतंकवादी घटनाएं बढ़ गई हैं.

आपको बता दें कि तालिबान और आईएस अफगानिस्तान में साल के शुरुआत से ही निरंतर हमले करते आ रहे हैं. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल और अन्य जगहों पर बड़ी तादाद में नागरिकों ने विस्फोटों में जान गंवाई है.