कर्नाटक में सियासी घमासान के बीच जेडीएस-कांग्रेस विधायक हैदराबाद पहुंचे

कर्नाटक में जारी सियासी हलचल तेज होती जा रही है. एक तरफ कोर्ट ने आदेश दिया है कि कल बीजेपी को कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा. इससे पहले राज्यपाल में मुख्यमंत्री को 15 दिनों का समय दिया था. बहुमत साबित करने के लिए पर कोर्ट के आदेश के बाद यह बहुमत परीक्षण कल ही होगा.

बीएस येदियुरप्पा को राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाने वाली बीजेपी को बहुमत साबित करने के लिए बीजेपी को 112 विधायकों के समर्थन का आंकड़ा पार करना है. ऐसे में बीजेपी की पहुंच से अपने विधायकों को दूर करने के लिए कांग्रेस-जेडीएस भी पूरी तरह तैयार हैं.

इसी को देखते हुए दोनों पार्टियों ने अपने विधायकों को आखिरकार हैदराबाद ले जाने का फैसला किया. इससे पहले जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने विधायकों को बेंगलूरू से बाहर ले जाए जाने पर कहा कि हमें सावधानी बरतनी होगी.

साथ ही उन्होंने कहा कि विधायकों की खरीद-फरोख्त रोकने के लिए उन्हें (कांग्रेस-जेडीएस के विधायकों को) एक साथ ले जाया जा रहा है. सभी विधायक बस से जा रहे हैं और एक ही जगह रुकेंगे. सभी विधायकों को तीन बसों के जरिये हैदराबाद ले जाया गया है.

वहीँ कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि कांग्रेस रात में ही अपने विधायकों को कर्नाटक से बाहर कोच्चि या पुडुचेरी ले जा सकती है. गुरुवार को कर्नाटक के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कहा कि मुझे और मेरी पार्टी को विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों की जरूरत नहीं पड़ेगी. बीजेपी को कल 4 बजे बहुमत साबित करना है.