इजरायल के खिलाफ़ ईरान का हमला, सऊदी अरब और अमेरिका के लिए चेतावनी?

गुरुवार को सीरिया में ईरानी बलों ने गोलान हाइट्स में इज़राइली सेना के अड्डों पर रॉकेट हमला शुरू किया. इज़राइल ने कहा कि, सीरिया के खिलाफ 2011 में संघर्ष के बाद सबसे भारी इजरायली बैराजों में से एक को प्रेरित किया है.

आपको बता दें कि, इजराइल ने सीरिया के गोलान हाइट्स पर अपना कब्जा किया है जहाँ पर ईरान ने हमले किये है. अरब न्यूज़ के आनुसार, देश के गृह युद्ध में राष्ट्रपति बशर असद का समर्थन करने के लिए ईरान समर्थित शिया आर्मी और रूसी सैनिकों को सीरिया में तैनात किया गया है.

सीरियाई राज्य मीडिया ने कहा कि एक रडार स्टेशन, सीरियाई वायु रक्षा पदों पर दर्जनों इज़राइली मिसाइलों ने गोला बारूद से हमला किया है.

वहीं अरब न्यूज़ के आनुसार, इज़राइल ने कहा कि 20 ईरानी ग्रैड और फ़ज्र रॉकेट को आयरन डोम एयर डिफेंस सिस्टम द्वारा गोली मार दी गई थी. इज़राइल ने कहा कि ईरान के क्रांतिकारी गार्ड द्वारा दागीं गयी मिसाइलें हमने नष्ट कर दी हैं.

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया के आनुसार, गुरुवार को इज़राइली रक्षा मंत्री एविगडोर लिबरमैन ने सुबह तेल अवीव के पास हेर्ज़्लिया सुरक्षा सम्मेलन में ईरान की तरफ इशारा करते हुए कहा कि, मुझे आशा है कि हमने इस अध्याय को पूरा कर लिया है और सभी को यह संदेश मिला है.

सैन्य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल जोनाथन कॉनरिकस ने संवाददाताओं से कहा कि यह आदेश दिया गया था (कुदस फोर्स के चीफ जनरल) कासिम सुलेमानी ने इसका आदेश नहीं दिया है और इसने अपना मकसद हासिल नहीं किया है. सीरिया में दर्जनों ईरानी सैन्य स्थलों को नष्ट कर इजरायल ने ईरान को जवाब दिया है.