EVM को लेकर उद्धव ठाकरे समेत कांग्रेस नेताओं ने भी साधा निशाना, उद्धव ठाकरे ने कहा..

कर्नाटक में हुये 222 सीटों के चुनावों के वोटों की गिनती समाप्त होने के बाद नतीजे आने पर कर्नाटक विधानसभा चुनाव में भाजपा बहुमत से दूर रह गयी. लेकिन मतगणना के रुझानों के समय से ही बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी बताया जा रहा था. जिसके बाद ईवीएम को लेकर पार्टी पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं

ईवीएम के मुद्दे पर कांग्रेस, शिवसेना ने भी बीजेपी पर सवाल उठाए हैं. एएनआई के मुताबिक, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि सिर्फ एक बार, मैं चाहता हूं कि बीजेपी बैलेट पेपर पर इलेक्शन हो ना की ईवीएम मशीन से. सभी संभावनाएं दूर हो जाएंगी.

वहीं इससे पहले कांग्रेस नेता मोहन प्रकाश ने कहा कि मैं पहले दिन से ही कह रहा हूं कि देश में कोई भी राजनीतिक दल नहीं है, जिसने ईवीएम पर सवाल नहीं उठाए हों. मोहन प्रकाश ने आगे कहा कि यहीं नहीं इससे पहले कांग्रेस कार्यकाल में बीजेपी ने भी ईवीएम को लेकर सवाल उठा चुकी है.

आपको बता दें कि दूसरी तरफ कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने तो वोटों की गिनती से पहले ही बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि यदि कोई कहता है कि वह इतनी सीटें जीतेगा तो ऐसी बात वही कह सकता है, जिसने ईवीएम सेट कर रखी हों.

कर्नाटक में 224 सीटें है जिनमें से 222 सीटों पर चुनाव हुये थे, बाकि 2 सीटों पर चुनाव 22 मई को कराये जायगें. अब तक के रुझानों में कर्नाटक में बीजेपी 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. बीजेपी को 105, कांग्रेस को 77, JD(S) को 37 सीटें मिली है वहीँ अन्य के खाते में 3 सीटें जाती हुई नज़र आ रही है.