एक गोदाम से मिली 8 VVPAT, दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग पर साधा निशाना

कर्नाटक में मिली VVPAT मशीन को लेकर चुनाव आयोग पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने निशाना साधा है. उन्होंने कर्नाटक में मजदूरों के गोदाम से VVPAT मशीन मिलने की खबर पर चुनाव आयोग से मामले की जांच करने की मांग करते हुए कहा है कि उन्हें आशंका है कि इस मामले की जांच होगी लेकिन रिपोर्ट उजागर नही होगी.

दिग्विजय ने ट्वीट करके कहा कि क्या जनता को माननीय चुनाव आयोग बतायेंगे यह मशीनें किस की है और मज़दूरों के गोदाम में क्या कर रही थीं? इनके नम्बर क्या हैं और यह क़िसको सौंपी गई थीं? जॉंच तो होगी किन्तु मुझे आशंका है जॉंच रिपोर्ट उजागर नहीं होगी.


न्यूज़ वेबसाइट न्यूज़18 के मुताबिक,कर्नाटक के बसवन्ना बागेवाड़ी के एक गोदाम में 8 वीवीपीएटी मशीनें मिली हैं.  ये मशीनें जहाँ पर मिली है वो नेशनल हाइवे 13 पर बसे मंगोली के पास है और गोदाम नेशनल हाइवे मजदूरों के लिए बना शेड है.

आपको बता दें कि 2017 के बाद से ही लगातार ईवीएम को लेकर सवाल उठते रहे हैं. सबसे पहले बसपा सुप्रिमो मायावती ने ईवीएम को लेकर सवाल उठाये थे. मायावती ने आरोप लगाया था कि यूपी में भाजपा ने ईवीएम को मैनेज करके जीत हासिल की है. और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने तो राज्य में कांग्रेस की हार का ठीकरा ईवीएम के सर पर ही फोड़ा था.

इस शेड में रहने वाले सभी मजदूर दिहाड़ी मजदूर है. यहां पर 8 वीवीपीएटी मिली है, यह मामला सामने आने के बाद से ही चुनाव आयोग से इस मामले की जांच करने की मांग की जा रही है.

वीवीपीएटी मशीनों की जांच चल रही है. बता दें की साथ ही मजदूरों से भी पूछताछ की जा रही है. ये मशीने किस की है और यहां कैसे पहुची इसकी जांच की जा रही है. वहीँ शुरूआती जांच में अधिकारियों ने किसी साजिश होने की बात से इंकार नही किया है.