देखे वीडियो: इज़रायल के राजदूत को इस्तांबुल के एयरपोर्ट पर जमकर किया अपमानित

यरुशलम में अमेरिकी दूतावास खोलने के अवसर पर इजरायल द्वारा फिलितसीन में भारी क़त्लेआम हुआ जिसमें तीन हज़ार से अधिक लोग गम्भीर रूप से घायल होगए हैं और लगभग 58 निर्दोष लोग शहीद हुए हैं. दरअसल फिलिस्तीनी इस दूतावास का यरूशलम के खुलने पर विरोध कर रहे थे.

अमेरिका और इज़राईल के इस दहशतगर्दी के खिलाफ पूरी दुनिया मे आक्रोश फैल गया है, दक्षिण अफ्रीका ने इस घटना की कड़ी आलोचना की साथ ही इज़राईल से अपना राजदूत वापस बुला लिया गया. वहीं तुर्की ने इज़राईल और अमेरिका से अपने तमाम राजनायिक नाते तोड़े डाले हैं दिए है, और इन दोनों देशों से अपने राजदूत वापस बुला लिये हैं.

तुर्की ने गाज़ा पट्टी सीमा पर की गई इज़राईल की कार्यवाही को एक आतँकवादी कार्यवाही बताया है, साथ ही उन्होंने कहा इसको किसी भी प्रकार से बर्दाश्त नही किया जायेगा और इजरायल और अमेरिका दोनों इस क़त्लेआम में बराबर के शरीक हैं.

तुर्की के इज़राइली राजदूत ईटन नाहे इस्तांबुल अटतर्क हवाई अड्डे पर तुर्की द्वारा निष्कासित होने के बाद इज़राइल के रास्ते पर पूरी सुरक्षा जांच कर ली गई थी, पूरे तुर्की को राष्ट्रीय टीवी कर्मचारियों द्वारा फिल्माया गया था.

इज़राईल के राजदूत हेतन नाहे को भी तुर्की ने देश छोड़ने की धमकी दी थी जिसके बाद इज़राईली राजदूत जब इस्तंबूल के अतातुर्क हवाई अड्डे पर पहंचे तो सेक्यूरिटी एजेंसी ने उनको बॉडी सर्च किया और उनके कपड़े उतारे तथा उनको किसी भी प्रकार का कोई प्रोटोकॉल नही दिया बल्कि एक आम आदमी की तरह उन्हें बाहर ही बैठना पड़ा.

तुर्की ने राष्ट्रपति एर्दोगान ने इज़राइल के तुर्की राजदूत को 24 घण्टों में देश छोड़ने की धमकी दी थी, इज़राईली राजदूत के साथ की गई कार्यवाही के समय मीडिया को वीडियो ग्राफी करने की भी इज़ाज़त दी गई थी.