बड़ी वजह के चलते ओवैसी की AIMIM पार्टी ने कर्नाटक चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया

हैदराबाद: ऑल इंडिया मजलिस ऐ इत्तेहादुल मुस्लिमीन द्वारा कर्नाटका विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी मैदान में उतारने का ऐलान किया था लेकिन अब पार्टी की तरफ से चुनाव न लड़ने का एलान किया है।ओवैसी ने स्थानीय यूनिट से सलाह मशविरे के बाद यर फैसला लिया है.

प्राप्त समाचार अनुसार Aimim को लगता है, उनके इस चुनाव में उतरने से धर्मनिरपेक्ष दलों को नुकसान पहुंच सकता है. बता दें कि कर्नाटक के कुछ इलाकों में AIMIM की पकड़ काफी मजबूत मानी जाती है.

और इसकी क्षेत्रीय इकाई ने चुनाव के मद्देनजर उम्मीदवारों की लिस्ट भी तैयार कर ली थी. हालांकि AIMIM अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस मसले पर पार्टी नेताओं से कई बार सलाह की और आखिर में चुनाव ना लड़ने का फैसला किया.

कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों पर 12 मई को वोटिंग होनी है और मतों की गणना 15 मई को होगी. इस चुनाव में मुख्य मुकाबला कांग्रेस, बीजेपी और जेडीएस के बीच है.

कर्नाटक चुनाव को लेकर इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स के ओपिनियन पोल के मुताबिक कांग्रेस कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आ रही है, लेकिन बहुमत के आंकड़े से वो दर्जन भर सीटों से पीछे रह जाएगी.

वहीं बीजेपी के 78-86 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रहने की संभावना है. जबकि देवगौड़ा की जेडीएस राज्य में किंगमेकर की भूमिका में सामने आ सकती है.